लघु सिंचाई विभाग

उत्तर प्रदेश सरकार

अधिकारियों एवं कर्मचारियों के अधिकार एवं कर्तव्य

विभागीय अधिकारियों को सर्वप्रथम प्रशासनिक एवं वित्तीय अधिकारों का प्रतिनिधायन शासकीय पत्र सं0-यू.ओ.-568/38-ख दिनांक 16.09.1965 द्वारा किया गया था। तत्पश्चात् शासनादेश सं.-ए-2-3407/दस-85 दिनांक 09.12.1985, 6059/54-2-86-999(9)/74 दिनांक 13 मई,1986, ए-2-1602/दस-95-24(14)/95 दिनांक 01.06.1995 तथा शासनादेश सं.-ए-2-287/दस-2005-24(3)/05 दिनांक 29.07.2005 द्वारा वित्तीय अधिकारियों का प्रतिनिधायन किया गया।

लघु सिंचाई विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों की वार्षिक चरित्र पंजिका अंकित करने का निर्देश शासनादेश सं.-5300/62-3-99-74-आर.ई.एस./99 दिनांक 18.12.1999 तथा सं0-539/62-2-2003-2/4(69)/2000 दिनांक 07.03.1963 पर प्रस्तुत है।

अवर अभियन्ता के सम्बन्ध में प्रशासनिक अधिकारों का प्रतिनिधायन शासनादेश सं0-7844/54-2-996/75 दिनांक 18.02.1989 तथा मुख्य अभियन्ता, लघु सिंचाई विभाग, उत्तर प्रदेश लखनऊ के परिपत्र सं0-3357/स्था0-5/(153)/93 दिनांक 11.06.1993 द्वारा किया गया है।